टेरर फंडिंग केस: NIA ने यासीम मलिक को फांसी की सजा दिए जाने की मांग को लेकर HC का किया रुख

टेटर फंडिंग केस में सजा काट रहे यासीम मलिक को फांसी की सजा दिए जाने की एनआईए ने हाईकोर्ट का रुख किया है।

India

oi-Bhavna Pandey

Google Oneindia News
Yasin Malik

आतंकवाद
को
फंडिंग
करने
के
मामले
में
प्रतिबंधित
जम्मू-कश्मीर
लिबरेशन
फ्रंट
का
मुखिया
यासीम
मलिक
जो
जेल
कमें
सजा
काट
रहा
है
उसे
ट्रायल
कोर्ट
ने
पिछले
साल
उम्रकैद
की
सजा
सुनाई
थी।
अब
राष्‍ट्रीय
जांच
एजेंसी
एनआईए
ने
यासीम
मलिक
को
मौत
की
सजा
देने
की
मांग
करते
हुए
दिल्‍ली
हाई
कोर्ट
में
अपील
की
है।

यासीम
ने
कबूल
किए
हैं
सारे
आरोप

बता
दें
आतं‍कवादियों
को
फंडिंग
करने
के
मामले
में
यासीम
मलिक
दोषी
साबित
हो
चुका
है।
न्‍यायाधी
सिद्धार्थ
मुदुल
और
न्यायमूर्ति
तलवंत
सिंह
की
बेंच
अब
एनआईए
की
अपील
पर
29
मई
को
सुनवाई
करेगी।

एनआईए
ने
यासीम
को
बताया
आतंकियों
को
फंडिंग
करने
का
मास्‍टरमाइंड

एनआईए
ने
जो
दिल्‍ली
हाईकोर्ट
में
अपील
की
है
उसमें
ये
दावा
किया
है
अलगाववादी
नेता
यासीम
मलिक
आतंकवादियों
को
फंडिग
करने
का
मास्‍टरमाइंडड
है।
इसलिए
इसे
उम्रकैद
के
बजाय
फांसी
की
सजा
दी
जाए।
एनआईए
ने
कोर्ट
में
कहा
है
कि
उसके
खिलाफ
मामले
को
रेयरेस्ट
आफ
रेयर
श्रेणी
में
माना
जाए।

पटियाला
कोर्ट
ने
दी
है
उम्रकैद
की
सजा

पटियाला
हाउस
कोर्ट
ने
2022
ने
इस
अलगाववादी
नेता
यासीन
मलिक
को
टेरर
फंडिंग
में
गैरकानूनी
गतिविधि
रोकथाम
अधिनियम
(यूएपीए)
और
भारतीय
दंड
संहिता
(आइपीसी)
की
कई
धाराओं
के
तहत
उम्रकैद
की
सजा
सुनाई
थी।
एनआईए
ने
पटियाला
हाउस
कोर्ट
के
फैसले
को
फांसी
की
सजा
में
बदलने
के
लिए
दिल्‍ली
हाईकोर्ट
में
मांग
की
है।

मौत
की
सजा
देने
की
एनआईए
ने
की
है
मांग

बता
दें
जेल
में
बंद
या‍सीम
मलिक
ने
आतंकियों
को
फंडिक
करने
के
सभी
आरोपों
को
स्‍वीकार
कर
लिया
था।
भारतीय
दंड
संहित
की
धारा
121
के
अंतर्गत
जांच
एजेंसी
एनआईए
ने
सजायाफ्ता
यासीन
मलिक
को
मृत्‍युदंड
दिए
जाने
की
मांग
की
है।

कोर्ट
ने
कहा
था
केवल
दुर्लभ
मामलों
में
ही
मृत्‍युदंड
देना
चाहिए

कोर्ट
ने
अपने
आदेश
में
कहा
धारा
121
मे
दोषी
पाए
जाने
पर
मृत्युदंड
की
सजा
देने
का
प्रविधान
है,
लेकिन
सुप्रीम
कोर्ट
के
निर्णयों
के
अनुसार
केवल
दुर्लभ
मामलों
में
ही
मृत्‍युदंड
देना
चाहिए।
इसमें
कहा
गया
था
कि
मृत्‍युदंड
अपवाद
है
और
उम्रकैद
नियम
है

ये
ही
आधार
देते
हुए
निचली
अदालत
ने
को
आतंकियों
को
पोषित
करने
वाले
यासमी
मलिक
को
उम्रकैद
की
सजा
दी
थी।
जिसके
खिलाफ
अब
जांच
एजेंसी
ने
यासीम
मलिक
को
मौत
की
सजा
देने
के
लिए
दिल्‍ली
हाईकोर्ट
में
अपील
की
है।


ये
भी
पढ़ें-
मोहम्‍मद
जुबैर
पर
फर्जी
केस
को
लेकर
दिल्‍ली
HC
ने
पूछा-
शिकायकर्ता
के
खिलाफ
एक्शन
क्यों
नहीं
लिया
गया
है

Recommended
Video

कौन
है
Yasin
Malik
?
…जिसके
दिए
दर्द
से
आजतक
नहीं
उबर
पाए
Kashmiri
Pandit
|
वनइंडिया
हिंदी

English summary

NIA moves Delhi High Court seeking death penalty for Yasin Malik in terror funding case

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.