वायनाड से राहुल को विदा करें लोग, नहीं तो अमेठी जैसा होगा हाल: स्मृति ईरानी

Image Source : PTI
स्मृति ईरानी

तिरुवनंतपुरम: अमेठी से बीजेपी सांसद और केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने एक बार फिर राहुल गांधी को निशाने पर लिया है। स्मृति ईरानी कल केरल में थीं और केरल से ही उन्होंने राहुल पर हमला बोला। स्मृति ईरानी ने कहा कि अगर राहुल गांधी वायनाड में रहे तो वायनाड का हाल भी वही होगा जो अमेठी का हुआ था इसलिए ऐसा कीजिए कि राहुल गांधी वायनाड से चले जाएं। उन्होंने कहा, ‘मैं कहीं भी रहूं, लेकिन वायनाड की चिंता करती हूं।’

‘वायनाड से राहुल को विदा करें लोग’


भारतीय मजदूर संघ (BMS) केरल द्वारा आयोजित राज्य स्तरीय महिला श्रम सम्मेलन का उद्घाटन करने के बाद, केंद्रीय मंत्री ने कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि उन्हें अमेठी से राहुल गांधी को “विदा” करने का “सौभाग्य” मिला। उन्होंने कहा, “जब राहुल गांधी अमेठी से सांसद थे, तब वहां 80 प्रतिशत लोगों के पास बिजली कनेक्शन नहीं था, कोई जिला कलेक्टर कार्यालय नहीं था, कोई फायर स्टेशन नहीं था, कोई मेडिकल कॉलेज नहीं था, कोई केंद्रीय विद्यालय या सैनिक स्कूल नहीं था और जिला अस्पताल में डायलिसिस सेंटर या एक्स-रे मशीन नहीं थी। उनके जाने के बाद, ये सभी सुविधाएं और बुनियादी ढांचा वहां संभव हो गया था। इसलिए अगर वह वायनाड में रहते हैं, तो इसका भी अमेठी जैसा ही हश्र होगा। इसलिए, आपको यह सुनिश्चित करना होगा कि वह यहां न रहें।”

‘मैं जीत सकती थी इसलिए अमेठी भेजा गया था, महिला होने की वजह से नहीं’

इससे पहले स्मृति ईरानी ने कहा था कि उन्हें अमेठी में राहुल गांधी के खिलाफ चुनाव मैदान में इसलिए नहीं उतारा गया था कि वह महिला हैं, बल्कि पार्टी को लगता था कि केवल वह ही उन्हें हरा सकती हैं। ईरानी की टिप्पणी यह कहे जाने पर आई थी कि सरकार को महिला रियल एस्टेट डेवलपर्स को त्वरित मंजूरी देने पर विचार करना चाहिए। महिला एवं बाल विकास मंत्री ईरानी ने रियल एस्टेट डेवलपर्स के संगठन ‘क्रेडाई’ द्वारा आयोजित सम्मेलन में कहा, “मैं इसके बजाय पुरुष डेवलपर्स के साथ प्रतिस्पर्धा करना पसंद करूंगी… मुझे अमेठी इसलिए नहीं भेजा गया था क्योंकि मैं एक महिला हूं। मुझे अमेठी इसलिए भेजा गया क्योंकि मैं एकमात्र व्यक्ति थी जो उस आदमी (राहुल गांधी) को हरा सकती थी।”

यह भी पढ़ें-

ईरानी ने 2019 के आम चुनाव में नेहरू-गांधी परिवार के गढ़ अमेठी में राहुल गांधी को लगभग 55,000 मतों के अंतर से हराया था। इससे पहले 2014 के लोकसभा चुनाव में वह राहुल गांधी के सामने एक लाख मतों के अंतर से हार गई गई थीं।

Latest India News


Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.